Type Here to Get Search Results !

Joint Saving Account क्या होता है? जॉइंट सेविंग अकाउंट कैसे खोलें?

0

 अगर पति व पत्नी दोनों कामकाजी हैं, तो बचत व खर्चों के लिए बैंक में Joint Saving Account खोलना बेहतर है। खास तौर पर ऐसे दंपति के लिए Joint Saving Account अच्छा है, जो अपनी बचत के प्रबंधन में लचीलापन चाहते हैं।

Joint Saving Account से गृहस्थी के सुचारू संचालन में आसानी होती है। अगर पत्नी नहीं भी कमाती, तो Joint Saving Account होने से उसे बिलों के भुगतान, घर की जरूरतों के लिए पैसे निकालने आदि के लिए पति द्वारा बैंक या एटीएम जाकर पैसे निकालने का इंतजार नहीं करना पड़ता।



कैसे खोलें Joint Saving Account

Joint Saving Account नए सिरे से भी खोला जा सकता है या किसी एक के नाम पहले से बने खाते में अन्य व्यक्ति या व्यक्तियों का नाम जुड़वाया जा सकता है।

खाता खोलने के लिए आपको बैंक के नो युअर कस्टमर (KYC) फॉर्म को भरकर जमा करना होगा और बाकी औपचारिकताएं पूरी करनी होंगी। इसके बाद बैंक आपकी पहचान, पते व पेशे से संंबंधित जानकारी को प्रमाणित करेगा, फिर आपका खाता खोल दिया जाएगा। कई बार बैंक खाता खोलने के लिए किसी मौजूदा खाताधारक की गारंटी भी मांगते हैं।

दोनों में से जिस खाताधारक का नाम फॉर्म में पहले होगा, वह प्रारंभिक या पहला खाताधारक कहलाएगा। दूसरा या शेष व्यक्ति सेकंडरी खाताधारक कहे जाएंगे।

Joint Saving Account ओपन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज –

Joint Saving Account ओपन करने के लिए उन्हीं दस्तावेजों की आवश्यकता होती है। जो कि एक पर्सनल Saving अकाउंट ओपन करने के लिए होती है।

Joint अकाउंट ओपन करने के लिए आपको निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता होगी –

पहचान का प्रमाण पत्र – आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट आदि में से कोई एक से कोई एक।

पते का प्रमाण पत्र – राशन कार्ड, पानी, बिजली आदि का बिल, आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड आदि में से कोई एक।

दोनों/सभी खाताधारक के पासपोर्ट साइज फोटो।

संचालक कैसे चुनें

Joint Saving Account का संचालन सभी खाताधारक कर सकते हैं या किसी एक को संचालक चुन सकते हैं। इसके कई विकल्प हैं। सेकंडरी खाताधारकों को कौन-कौन से अधिकार मिलेंगे,

यह आपको खाते के संचालन की जानकारी देने के दौरान Bank को बताना होगा। इसके लिए खाता खोलते समय खाते के संचालन के नियम फॉर्म सावधानी से देखें।

निवेश लाभ प्रारंभिक खाताधारक को

यदि आपने Joint Saving Account खोलकर निवेश किया है, तो ब्याज व लाभांश आदि प्रारंभिक खाताधारक के नाम पर आता है निवेश से संबंधित सूचना भी प्रारंभिक खाताधारक को ही दी जाती है।

अगर खाताधारक पति-पत्नी हैं और पत्नी नहीं कमाती व Joint Saving Account के पैसे को उसने कहीं निवेश कर दिया है, तो इस निवेश से प्राप्त होने वाला ब्याज भी प्रारंभिक खाताधारक के नाम से चढ़ेगा।

इस पर लगने वाले टैक्स की जवाबदारी भी प्रारंभिक खाताधारक की होगी। संयुक्त निवेश खाते में ब्याज पर जो टीडीएस कटता है, वह भी प्रारंभिक खाताधारक के नाम पर ही कटता है।

लोन पर टैक्स छूट दोनों को

जो लोन संयुक्त रूप से लिया जाता है, वह दोनों खाताधारकों की जिम्मेदारी होती है और यह दोनों के क्रेडिट स्कोर को प्रभावित करता है।

ऐसा लोन लेने वाले Joint Saving Account धारक लोन की ईएमआई के प्रिंसिपल अमाउंट और ब्याज भुगतान, दोनों पर टैक्स छूट अलग-अलग क्लेम कर सकते हैं।

नाबालिग के साथ Joint Saving Account

नाबालिग यानी 18 वर्ष से कम उम्र के व्यक्ति के साथ उसके माता-पिता या अभिभावक Joint Saving Account खोल सकते हैं। यहां नाबालिग की ओर से भी खाते के संचालन का अधिकार सिर्फ अभिभावक को होता है।

नॉमिनी सुविधा भी

Joint Saving Account में भी नॉमिनी चुना जा सकता है। फिलहाल ऐसे खाते में एक नॉमिनी चुनने की सुविधा है। अगर खाते का कोई नॉमिनी नहीं है व किसी एक खाताधारक की मौत हो जाती है, तो खाते में जमा राशि बाकी बचे खाताधारकों और मृतक के कानूनी वारिस में बराबर-बराबर बांट दी जाती है।

अंतिम शब्द

दोस्तों आज आपने इस पोस्ट के माध्यम से जाना किJoint Saving Account kya hai है. अगर आपको हमारी Jankari अच्छी लगी हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं। और अगर आपके पास इस पोस्ट से संबंधित कोई प्रश्न है, तो हमें जवाब देने में बहुत खुशी होगी।

Post a Comment

0 Comments